Recent Trend

मैं और मेरी तन्हाई अक्सर ये बातें करते हैं! Epic Lyrics

1

मैं और मेरी तन्हाई अक्सर ये बातें करते हैं ! के तुम होती तो कैसा होता, तुम ये केहती, तुम वो केहती तुम इस बात पे हैरां होती, तुम उस बात पे कितनी हंसती ! तुम होती तो ऐसा होता, तुम होती तो वैसा होता ! मैं और मेरी तन्हाई अक्सर ये बातें करते हैं! ये रात है, या तुम्हारी जुल्फें खुली हुई हैं ! है चांदनी या तुम्हारी नजरों से मेरी रातें धूलि हुई हैं ! ये चाँद है या तुम्हारा कंगन सितारें है या तुम्हारा आँचल हवा का झोंका है या तुम्हारे बदन की खुसबू ! ये पत्तियों की है सरसराहट के तुमने चुपके से कुछ कहा है ! ये सोचता हूँ मैं कब से गुमसुम के जब की मुझको भी यह खबर है के तुम नहीं हो, कहीं नहीं हो ! मगर ये दिल है के कह रहा है के तुम यहीं हो , यहीं कहीं हो !


मजबूर यह हालात, इधर भी है उधर भी 
तन्हाई की एक रात, इधर भी है उधर भी !
केहने को बहोत कुछ है, मगर किस्से कहें हम !
कब तक यूँही खामोश रहें और सहें हम !
दिल कहता है दुनिया की हर एक रस्म उठा दें !
दीवार जो हम दोनों में है, आज गिरा दें 
क्यों दिल में सुलगते रहे, लोगों को बता दें !
हाँ हमको मोहब्बत है, मोहब्बत है, मोहब्बत !! 
अब दिल में यही बात, इधर भी है, उधर भी !
Powered by Blogger.